Principal's Message

मानव जीवन को विकसित करने के लिए शिक्षक एक ऐसा माध्यम है  जिसके द्वारा यह  देश अपने हजारो साल की संस्कृति को संजो कर एवं भविष्य मे दुनिया के विकसित देशो के व्यक्तियों के साथ कदम से कदम मिला कर चल सकेगा ।

             शासन की मंशा के अनुरूप चूंकि प्राचार्य प्रशासनिक प्रमुख होने के अलावा मुख्यता शिक्षक होता है अतः उसे स्वयं कक्षाएं लेकर पठन-पाठन को प्रोत्साहित करना चाहिए। हमने लगातार बखूबी यही कार्य किया।युवशक्ति देश के उथान मे अपनी अहम भूमिका निभाती है,इसलिए प्रत्येक विदयरथी को अनुसाशित रहते हुए अधय्यन करना चाहिए।



डॉ. युगल किशोर चंद्रा 
शासकीय  महाविद्यालय घरघोड़ा
प्राचार्य




Scroll to Top